राष्ट्रीय

चुनावी मैदान में उतरने वाले हैं इन बड़े नेताओं के बेटे और रिश्तेदार

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव की तैयारियों को राजनीतिक पार्टियां अंतिम रूप देने में लगी हुई हैं। ऐसे में कई सारे बुजुर्ग चेहरों को फिर से राजनीतिक दलों ने टिकट देने की संभावनाएं जताई हैं तो कुछ चेहरों को टिकट दी जा चुकी है। ऐसे में इस बार कई सारे नए चेहरे भी चुनावी मैदान में नजर आएंगे। आपको बता दें कि इन नए चेहरों में से कोई उम्मीदवार पिता के नाम पर तो कोई पति के नाम पर अपना बाहुबल दर्शाते हुए दिखाई देगा।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल जिन्हें उत्तराखंड के पौढ़ी से चुनाव लड़ाने की चर्चा चल रही है। हाल ही में शौर्य डोभाल ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है। मूलरूप से पौढ़ी जिले के शौर्य डोभाल इंडियन फाउंडेशन नामक संस्था के थिंक टैंक के निदेशक हैं।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत को इस बार कांग्रेस टिकट दे सकती है। बता दें कि अशोक गहलोत ने चुनावी रैलियों में कई बार इस ओर इशारा किया था कि उनका बेटा मैदान पर नजर आ सकता है। गहलोत ने कहा था कि पिछले 10 सालों से सोच रहा था कि वैभव को जालौर-सिरोही लोकसभा सीट से चुनाव लड़ाऊं, मगर ये अभी मुमकिन नहीं हो पा रहा। फिलहाल वैभव गहलोत राजस्थान के उपमुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट की प्रदेश कांग्रेस कमिटी की टीम में शामिल हैं।