बुन्देलखण्ड ललितपुर

प्रसूता का एम्ब्यूलेंस में हुआ सुरक्षित प्रसव, जच्चा-बच्चा सुरक्षित

ललितपुर। महिला चिकित्सालय सदैव अपनी कारगुजारियों के चलते सुर्खियों में बना रहता है। यहां शहरी व सुदूर ग्रामीण अंचलों से आने वाली प्रसूताओं की देखभाल में बरती जाने वाली लापरवाहियों का लोगों को गंभीर परिणाम के रूप में खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। ऐसा ही एक मामला विगत देर रात उस समय देखने को मिला, जब जिला महिला अस्पताल में प्रसव के लिए आयी महिला की हालत को गंभीर बताते हुये झांसी मेडीकल कालेज रेफर कर दिया गया। झांसी ले जाते समय हुई प्रसव पीड़ा के दौरान एम्ब्यूलेंस कर्मियों ने महिला का सुरक्षित रास्ते में ही प्रसव करा दिया। अब जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित हैं। लेकिन महिला अस्पताल से महिला को रेफर क्यों किया गया, यह जांच का विषय है ? बताया गया है कि समीपवर्ती ग्राम दैलवारा निवासी 22 वर्षीय शशि पत्नी गिरधारी को शुक्रवार को प्रसव पीड़ा के चलते महिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन देर रात अचानक डॉक्टरों ने महिला की हालत गंभीर बताकर उसे झांसी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। परिजन भी आनन-फानन में 108 एंबुलेंस का इंतजाम कर प्रसूता झांसी मेडिकल कॉलेज ले जाने लगे। एम्ब्यूलेंस आधी दूरी तय कर तालबेहट पहुंची थी कि अचानक प्रसव पीड़ा तेज हो गई और हालत बिगडऩे लगी।