बुन्देलखण्ड ललितपुर

उपचार कराने भटक रहा दिव्यांग

ललितपुर। जहां एक ओर केन्द्र व प्रदेश सरकार दिव्यांगों को सशक्त बनाने के लिए कई योजनाओं को संचालित कर रही है तो वहीं दूसरी ओर जिले में दिव्यांगों कई दिव्यांगों को उनका अधिकार तक नहीं मिल पा रहा है। कहीं अधिकारियों की उदासीनता व कहीं दिव्यांगों के अघोषित नेता, जो कि अधिकारियों के चक्कर लगाकर स्वयं का उल्लू सीधा करने में जुटे रहते हैं। इनके कारण वास्तविक दिव्यांगों को मूलभूत सुविधाओं से भी वंचित रहना पड़ रहा है। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है, जहां उपचार कराने के लिए एक दिव्यांग जिला अस्पताल व अधिकारियों के चक्कर काटने को विवश है। यह मामला जिला चिकित्सालय ललितपुर में आज उस समय देखने को मिला जब एक दिव्यांग जो ट्रेनों में गुटका बेचकर अपनी परिवार को भरण पोषण करता है उसने बताया है कि वह एक बार ट्रेन से गिर गया था और उसे पेट संबंधी समस्या आ गई है जिसके चलते वह जिला अस्पताल में गया डॉक्टर को दिखा कर पर्चा बनवाया लेकिन आगे की जांच एवं उपचार नहीं मिल रहा है।