ललितपुर

डीआईओएस के औचक निरीक्षण में गायब मिले प्राचार्य, स्पष्टीकरण तलब

ललितपुर। जिला विद्यालय निरीक्षक रामशंकर ने पिछले दिनों जिले के चार इण्टर कॉलेजों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कहीं प्राचार्य स्कूल में नहीं मिले वहीं एक स्कूल में तो एकमात्र शिक्षक मिला। जिला विद्यालय निरीक्षक ने स्याद्वाद्व वर्णी जैन इण्टर कॉलेज, रघुवीर सिंह इण्टर कॉलेज वार, एवं रानी लक्ष्मीबाई कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय हसारकला एवं मर्दन सिंह इण्टर कॉलेज का निरीक्षण किया। इस दौरान शिक्षकों की अनुपस्थित एवं अनियमिततायें मिलने पर स्पष्टीकरण तलब किया गया। मर्दन सिंह इण्टर कॉलेज में कुंजी लाल, प्रवक्ता, पवन कुमार साहू, स0अ0, करूणेश कुमार, स0अ0, अजीत खरे, प्रवक्ता, अरविन्द कुमार, प्रवक्ता उमाकान्त मौर्य, स0अ0 (नामित कक्षा अध्यापक) द्वारा नियमित उपस्थिति दर्ज न करने अपने पदेन दायित्वों का निर्वहन में शिथिलता बरतने आदि आरोप में कड़ी लिखित चेतवानी दी गयी। साथ ही प्रधानाचार्य शिवचरन साहू को विद्यालय में अव्यवस्था पाये जाने, पदेन दायित्वों का निर्वहन सही ढंग न करने ,विद्यालयी अभिलेखों का समय-समय पर परीक्षण न करने आदि गम्भीर आरोपों के क्रम में प्रतिकूल प्रविष्टिी दी गयी। जिला विद्यालय निरीक्षक ने प्रधनाचार्य को निर्देशित किया है कि उक्त पायी गयी कमियों एवं छात्र/छात्राओं की न्यून उपस्थित के क्रम में औचित्यपूर्ण स्पष्टीकरण कार्यालय में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। प्रवक्ता/शिक्षक यह सुनिश्चित करें कि उनके विषय का पाठ्यक्रम पूर्ण हो गया है। विद्यार्थियों को नियमित गृहकार्य दिया जाये तथा समय-समय पर उसको अवलोकित किया जाये। कमजोर विद्यार्थियों की पृथक से सूची विषयवार तैयार की जाये तथा कमजोर विद्यार्थियों के साथ पठन-पाठ्न में अधिक परिश्रम किया जाये। उक्त आदेश को लिखित रूप से समस्त प्रवक्ता/शिक्षकों को सूचित करने का उत्तरदायित्व प्रधानाचार्य का होगा। विभाग द्वारा निर्देश है कि विषयवार, कक्षावार, प्रश्नबैंक तैयार कराकर साट एवं हार्डकापी में 12 दिसम्बर तक प्रत्येक दशा में प्रस्तुत करें जिससे उक्त प्रश्नबैंक माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश, प्रयागराज को उपलब्ध कराना सम्भव हो सकें। प्रतिदिन विद्यालय में छात्र उपस्थित की वीडियों रिकार्डिंग करायी जाये तथा सप्ताहिक रिपोर्ट कार्यालय में उपलब्ध करायें। शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का कार्य आंवटन करें तथा आंवटित कार्य के सापेक्ष कार्य कराया जाये। संदीप सिंह, व्यायाम शिक्षक के चिकित्सीय अवकाश की स्पष्ट आख्या उपलब्ध करायें। यदि भविष्य में उक्त कमियां/छात्र उपस्थित न्यून पायी जाती है तो सम्बन्धित का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुये विभागीय कठोर कार्यवाही की।