ललितपुर

लागौन में संध्याकालीन जन चौपाल का आयोजन

ललितपुर।शासन की मंशानुसार विकास कार्यों के स्थलीय सत्यापन एवं जनता और प्रशासन के मध्य सीधा सम्बंध स्थापित करने तथा जनता की समस्याओं का एक ही स्थान पर समस्त अधिकारियों की उपस्थिति में निस्तारण करने के उद्देश्य से जिलाधिकारी, मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में ग्राम पंचायत लागौन, विकासखण्ड जखौरा में संध्याकालीन जन चौपाल का आयोजन किया गया। चौपाल में विभिन्न जनपद स्तरीय/ब्लॉक स्तरीय अधिकारी मौजूद थे, जिन्होंने अपने-अपने विभाग से सम्बंधित योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को दी। अधिकारियों ने अपने विभाग से सम्बंधित योजनाओं के लाभार्थियों की सूची चौपाल के दौरान पढ़कर सुनाई व ग्रामीणों से उसका मौखिक सत्यापन भी कराया। इसके उपरान्त चौपाल में जिलाधिकारी  द्वारा समस्त विभागों की विभागवार समीक्षा की गयी। ग्राम में अधिष्ठापित हैण्डपम्पों की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ग्राम में कुल 33 हैण्डपम्प स्थापित हैं, जिनमें से 32 क्रियाशील हैं तथा 01 खराब है, जिसे ठीक कराये जाने के निर्देश दिये गए। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बताया गया कि ग्राम में वर्तमान वित्तीय वर्ष में 12 आवास निर्माण का लक्ष्य प्राप्त था, जिनमें से 04 आवासों के निर्माण की प्रथम एवं द्वितीय किस्त जारी हो चुकी है। इस पर जिलाधिकारी  ने शेष कार्य शीर्घ कराने के निर्देश दिये। मनरेगा के कार्यों की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ग्राम में कुल 4800 मानव दिवस सृजन के सापेक्ष 4080 मानव दिवस सृजित हो चुके हैं। चौपाल में स्वच्छ भारत मिशन के तहत निर्मित शौचालयों की समीक्षा में बताया गया कि 150 शौचालयों मंें से 129 पूर्ण हैं तथा 21 का कार्य प्रगति पर है। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि शौचालय निर्माण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत बताया गया कि ग्राम में 638 पात्र गृहस्थी तथा 25 अन्त्योदय कार्डधारक हैं,  पेंशन योजनाओं की समीक्षा के दौरान जिला समाज कल्याण अधिकारी/जिला सूचना अधिकारी पीयूष चन्द्र राय द्वारा बताया गया कि ग्राम में वृद्धावस्था पेंशन के 76 लाभार्थी, विधवा पेंशन के 28 तथा दिव्यांग पेंशन के 12 लाभार्थी हैं, जिन्हें समय से पेंशन का भुगतान किया जा रहा है।  गांव में ए0एन0एम0 श्रीमती भगवानदेवी एवं आशा श्रीमती ममता झां एवं श्रीमती गुड्डी झां कार्यरत हैं जो ग्राम में उपस्थित रहकर महिलाओं एवं किशोरियों को आवश्यक चिकित्सकीय जानकारी देती रहती हैं। शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी महोदय ने विद्यालयों में शैक्षणिक गुणवत्ता के बारे में पूछा, जिस पर बताया गया कि ग्राम में 01 प्राथमिक विद्यालय एवं 01 पूर्व माध्यमिक विद्यालय संचालित हैं, जिनमें जूता-मोजा, पुस्तक, ड्रेस एवं स्वेटर का वितरण हो चुका है। विद्यालय में नियमित रुप से मेन्यू के अनुसार मिड डे मील बनता है। बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ग्राम में 02 आंगनबाड़ी केन्द्र स्थापित हैं जिनमें कार्यकत्री श्रीमती मीना, श्रीमती उमा एवं सहायिका श्रीमती किरन कार्यरत हैं। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि ग्राम की महिलाओं एवं किशोरियों को पोषाहार एवं आयरन की गोलियां नियमित रुप से वितरित की जायें। इसके साथ ही चौपाल में बताया गया कि ग्राम में 06 स्वयं सहायता समूह गठित हैं, जिनकी आर0एफ0 तथा सी0सी0एल0 जारी है। सरकार द्वारा समाज के अंतिम व्यक्ति को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने वाली प्रधानमंत्री जनधन खाता, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा योजना, अटल पेंशन योजना के बारे में जानकारी दी गई। बताया गया कि योजना में अपना पंजीकरण कराने के लिए मात्र आधारकार्ड की आवश्यता है और आपका खाता खुल जाएगा। चौपाल में मुख्य विकास अधिकारी  शिवनारायण, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 प्रताप सिंह, परियोजना निदेशक डी0आर0डी0ए0 बलिराम वर्मा, जिला विकास अधिकारी विद्यानाथ शुक्ल, उप जिलाधिकारी सदर घनश्याम वर्मा, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ0 एस0के0 शाक्य, अग्रणी बैंक प्रबंधक एस0के0 श्रीवास्तव, उपायुक्त श्रम रोजगार इन्द्रमणि त्रिपाठी, जिला उद्यान अधिकारी सुघर सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी विजयप्रभा, जिला जिला सूचना अधिकारी पीयूष चन्द्र राय सहित अन्य अधिकारी, ग्राम प्रधान एवं ग्रामीण उपस्थित रहे।