झांसी

अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर संगोष्ठी आयोजित

झांसी। बुन्देलखण्ड साहित्य संगीत कला संस्थान के तत्वावधान में शिवाजी नगर स्थित ज्ञानस्थली इंटर कालेज में अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर संगोष्ठी राज्यमंत्री हरगोविंद कुशवाहा के मुख्य आतिथ्य एवं संस्था के अध्यक्ष/मुख्य संयोजक की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। विशिष्ट अतिथि के रुप में नगर मजिस्टे्रट रामप्रकाश, महानगर धर्माचार्य आचार्य हरिओम पाठक उपस्थित रहे। अतिथियों का स्वागत अखिलेश पाण्डेय, राजकुमार अमरया, मिंटू श्रीवास्तव आदि ने माल्यार्पण किया। तत्पश्चात अतिथियों ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण किया। संगोष्ठी का शुभारंभ विद्यालय की छात्राओं ने मां सरस्वती वंदना से किया। तत्पश्चात विद्यालय की छात्राओं ने सामूहिक रुप से स्वागत गीत प्रस्तुत किया। मुख्य अतिथि हरगोविंद कुशवाहा ने कहा कि आज विश्व में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है मानवाधिकार दिवस पर हम जानें हमारा अधिकार क्या है। व्यक्ति जबसे पैदा हुआ है उसे पूर्ण स्वतंत्रता व शांति के साथ विकास करने का अवसर लेने का अधिकार है हम अपने जीवन को पूर्ण सम्मान के साथ कानून में रखते हुये जीवन यापन करें तथा हमें जियो और जीने दो के मंत्र का अनुसरण करना चाहिए। नगर मजिस्टे्रट रामप्रकाश ने कहा कि आज देश स्वतंत्र है और इसका परिपालन नागरिकों को अपने कर्तव्यों का पालन करके करना चाहिए। आज मानव के अधिकारों का हनन हो रहा है क्योंकि हम अपने अधिकारों को नहीं जानते हैं। संगोष्ठी में श्रीमती अर्चना गुप्ता, मयंक श्रीवास्तव, अखिलेश पांडेय, अमिता गुप्ता, चंदन सिंह, रनमत लरल, उदय राजपूत, अंकुर अग्रवाल, दिव्या पटैरिया, संजू मिश्रा, राजीव दुबे आदि ने अपने-अपने विचार व्यक्त किए। संचालन एलआर सोनी ने किया। आभार विद्यालय की प्रधानाचार्य सुश्री अनिल प्रभा द्विवेदी ने व्यक्त किया।