बुन्देलखण्ड ललितपुर

महावीर जयन्ती की पूर्व बेला पर वैचारिक गोष्ठी संपन्न

ललितपुर। भगवान महावीर स्वामी के 2618 वीं जन्म कल्याणक की पूर्व वेला पर करूणा इण्टरनेशनल के तत्वाधान में सिविल लाइन के परिसर में महावीर की दृष्टि और सोच विषयक विचारमाला के शुभारंभ में ज्ञानदीप प्रज्जवलित करते हुए मुख्य अतिथि नेहरु महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य प्रोफेसर भगवत नारायण शर्मा ने द्वीप प्रज्जवलित कर किया। विचार गोष्ठी में वक्ताओं ने कहा कि महिला सशक्तिकरण, स्वच्छता और शुद्धता, जल संरक्षण, वृक्ष लगाओ,जनसंख्या नियंत्रण जैसे अभियान को गति प्रदान करने के लिए भगवान महावीर के सिद्धान्त आज अत्यधिक प्रासंगिक हो गए हैं। भूकंप, सुनामी,आतंकवाद, हिंसा, जातिवाद,लिंगभेद आदि जैसी बुराइयों पर काबू पाने के लिए महावीर स्वामी के सिद्धान्त अत्यन्त उपयोगी हैं। प्रोफेसर शर्मा ने कहा कि कमजोरों छल- बल से जीतकर उनके राज्य को एवं धन को अपने राज्य में या धन अपने खजाने में मिलाना बडा आसान है किंतु लगातार 12 वर्षों तक कठोर तपस्या से अपने शरीर को जीतने वाले महावीर और वर्धमान कहलाते हैं।