ललितपुर

सेवानिवृत्ति पर दी भावभीनीं विदाई

ललितपुर।कहा जाता है कि गुरू कभी सेवानिवृत्ति नहीं होते हैं।उनके द्वारा किए गये कार्यों को कभी भुलाया नहीं जा सकता है।गुरू बच्चों को ज्ञान बांटते हैं और आकांक्षा रखते हैं कि हमारे द्वारा पढायें हुए बच्चें उच्च पदों पर पहुंचे व अपना,अपने माता-पिता व गांव का नाम रोशन करें।सेवानिवृत्ति के अंतिम दिवस विकास खंड बार के संकुल केंद्र देवरान अन्तर्गत पूर्व माध्यमिक विद्यालय इमिलिया में पदस्थ सहायक अध्यापक राम सिंह बुंदेला का सेवानिवृत्ति पर विद्यालय परिवार द्वारा विदाई समारोह आयोजित कर उन्हें शिक्षकों व बच्चों ने भावभीनीं विदाई दी। कार्यक्रम के पूर्व में विद्यालय की छात्राओं ने सरस्वती बंदना व स्वागत गीत प्रस्तुत किया। विद्यालय परिवार द्वारा मुख्य अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया।विद्यालय के प्रधानाचार्य कमलेश त्रिपाठी ने सेवानिवृत्त अध्यापक रामसिंह बुंदेला को शाल,श्रीफल व स्मृति चिन्ह भेंट किया।इस दौरान प्रधानाचार्य कमलेश त्रिपाठी ने कहा कि बुंदेला जी का कार्यकाल अत्यंत सराहनीय रहा।उनके कार्यकाल को भुलाया नहीं जा सकता है। सहायक अध्यापक अनिल त्रिपाठी ने कहा कि शिक्षक कभी सेवानिवृत्त नहीं होते हैं सेवाकाल में वह बच्चों का भविष्य संवारते हैं व सेवानिवृत्ति के बाद वह समाज का मार्गदर्शन करते हैं। इस मौके पर जावेद खान मंसूरी ने एक कविता प्रस्तुत की।इंग्लिश मीडियम प्राइमरी विद्यालय इमिलिया के प्रधानाचार्य प्रदीप सोनी ने कहा कि अध्यापक को समयबद्ध रहते अपनी गरिमा के अनुसार तन,मन,धन से कर्तव्य के प्रति समर्पित रहना चाहिए।कार्यक्रम में पूर्वप्रधान श्री कृष्ण पराशर,राजीव त्रिपाठी,अरविंद करोसिया, प्रीति जैन,रक्षा निरंजन,रीना यादव,इकराम उल्ला के अलावा ग्रामीण मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन अनिल त्रिपाठी ने किया।