ललितपुर

नेहरू महाविद्यालय में मनाया गया पृथ्वी दिवस

ललितपुर। 22 अप्रैल को पृथ्वी दिवस सम्पूर्ण विश्व में पर्यावरण के लिये समर्थन प्रदर्शित करने हेतु मनाया जाता है। इस वर्ष पृथ्वी दिवस मनाने का उद्देश्य थीम यह है कि हम पृथ्वी पर मौजूद सभी प्रजातियों को संरक्षित करें। नेमवि प्राचार्य डा.अवधेश अग्रवाल ने कहा कि हम सुनते आ रहे है कि प्राचीन काल में डायनासोर, बड़े दांत वाले हाथी आदि हुआ करते थे पर हमने उन्हें देखा नहीं है। प्रकृति में विभिन्न प्रकार के प्रदुषण और बदलाव के कारण ये सब कहानियों में ही सुनाई पड़ता है। इसलिये हमें यह प्रयास करना होगा कि सभी प्रजातियों के संरक्षण के प्रयास किये जाये अथवा वृहद प्रयासों में सम्मिलित हुआ जाये। डा.राजीव निरंजन ने कहा कि पृथ्वी के तापमान में हो रही बेतिहाषा वृद्धि से पृथ्वी पर सभी प्रजातियों के सामने अस्तित्व का संकट पैदा हो गया है। पर्यावरण को संरक्षित करके हम आने वाले कल को बेहतर बना सकते है। पर्यावरण के प्रति जागरूक होकर ही हम वातारवण को प्रदुषित होने से बचा सकते है। बुन्देलखण्ड मिरर के संचालक/पर्यटन मित्र फिरोज इकबाल पर्यटन मित्र ने कहा कि जलवायु का परिवर्तन, वृक्षों का अन्धाधुंध कटान, शहरीकरण, कीटनाशकों का उपयोग, प्लास्टिक प्रदूषण जैसे क्षणिक लोभ के परिणाम स्वरूप हमने अपने एवं मौजूद प्रजातियों के भवष्यि को ही खतरे में डाल दिया है। पर्यावरण संरक्षण के लिये सभी को अपनी सामर्थ अनुसार प्रयास अवष्य करने चाहिये। इस अवसर पर महाविद्यालय परिसर में कई वर्षो का रोपण किया गया जिसमें आदर्ष रावत, अंकित चौबे, धर्मेन्द्र, भरत, अनिल, अकांक्षा साहू, दीपेश झॉ, आशी चौबे सहित काफी संख्या में छात्र छात्राएं मौजूद रहे।