बुन्देलखण्ड ललितपुर

भीषण गरमी ने किया आमजन जीवन बेहाल

ललितपुर। मौसम में तेजी से हुये परिवर्तन के चलते भीषण गरमी का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं अचानक बदले मौसम ने कई बीमारियों को भी उत्पन्न कर दिया है। बीमारियों की रोकथाम के साथ लोगों को लू से बचाव के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.प्रताप सिंह ने एडवाइजरी जारी करते हुये सुरक्षा के लिए विभिन्न उपाये बताये हैं। सीएमओ डा.प्रताप सिंह ने कहा कि जब वातावरणीय तापमान 37 डिग्री से.तक रहता तो मानव शरीर पर इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता हैं। जैसे ही तापमान 37 डिग्री से.से ऊपर बढ़ता है तो हमारा शरीर वातावरणीय गर्मी को शोषित कर शरीर के तापमान को प्रभावित करने लगता हैं जिससे हीट संबंधी रोग जैसे सन वर्न, हीट कैम्पस, हीट एक्जाशन, हीट/सन स्ट्रोक हो सकता हैं। उन्होंने हीट वेव/लू से बचाव के लिए जारी की एडवाइजरी में बताया है कि प्रचार माध्यमों पर हीट वेव/लू की चेतावनी पर ध्यान दें, अधिक से अधिक पानी पियें, यदि प्यास न लगी हो तब भी पानी का सेवन करते रहें, हल्के रंग के पसीना शोषित करने वाले हल्के वस्त्र पहनें, धूप के चश्में, छाता, टोपी व चप्पल/जूता का प्रयोग करें, अगर आप खुले में कार्य करते है तो सिर, चेहरा, हाथ पैरों को गीले कपड़े से ढके रहें तथा छाते का प्रयोग करें, यात्रा करते समय पीने का पानी अपने साथ ले जाएं, ओ.आर.एस., घर में बने हुये पेय पदार्थ जैसे लस्सी, चावल का पानी (माड़), नीबू पानी, छाछ आदि का उपयोग करें, जिससे कि शरीर मे पानी की कमी की भरपाइ हो सके।