ललितपुर

प्रेक्षक की निगरानी में मतगणना कराये जाने की मांग, झांसी में मिली खाली ईबीएम पर भी जताई शंका

ललितपुर। झांसी ललितपुर लोकसभा क्षेत्र के सपा, बसपा, रालौद गठबंधन प्रत्याशी श्याम सुन्दर यादव ने गंभीर आरोप लगाते हुए मतगणना में अधिकारियों को पृथक किये जाने की मांग को लेकर प्रेक्षक झांसी संसदीय क्षेत्र से शिकायत की है। बुधवार को  प्रेसवार्ता के दौरान प्रत्याशी श्याम सुन्दर सिंह यादव ने कहा कि सपा नेताओं समेत कई प्रधानों को धमकाते हुये लाल कार्ड जारी किए गए और उन्हें थाने तक में बैठाया गया।  वरिष्ठ नेताओं को अवैध रूप से पुलिस हिरासत में लेकर बसपा, सपा एवं मतदाताओं का मनोवल तोडने का प्रयास किया गया। उन्होंने यह भी बताया कि झांसी में ईबीएम मशीन को बिना प्रत्याशियों की सूचना के ले जाया जा रहा था, झांसी में भी गड़बड़ी की जा सकती है। लोकसभा चुनाव की मतगणना के दायित्व से पृथक करते हुए निष्पक्ष अधिकारी के निर्देशन में मतगणना करायी गयी। इस मौके पर समाजवादी पार्टी की जिलाध्यक्ष ज्योति सिंह लोधी, बसपा जिलाध्यक्ष कैलाश कुशवाहा, पूर्व विधायक महरौनी फेरनलाल अहिरवार, पूर्व जिलाध्यक्ष तिलक यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष महेन्द्र सिंह यादव, फूलसिंह नन्ना, रामजीवन यादव, महामंत्री गिरधारी यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष सरिता यादव, नगर अध्यक्ष अजीज कुरैशी, पूर्व बसपा जिलाध्यक्ष बाबूराम अहिरवार, मीडिया प्रभारी कुन्दन पाल सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।