ललितपुर

भारत को एकसूत्र में बांधने का काम किया बाबा साहब ने : डीएम

ललितपुर। बाबा साहब डा.भीमराव अम्बेडकर को उनकी 128 वीं जयंती के अवसर पर श्रद्धांजली अर्पित करने हेतु जनपद में विभिन्न स्थलों पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने सर्वप्रथम बयाना नाला के पास स्थित अम्बेडकर पार्क पहुंकर डा.भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रृद्धा सुमन अर्पित किये। अम्बेडकर पार्क में आयोजित इस कार्यक्रम का आयोजन नन्दलाल पहलवान के द्वारा किया गया।इसके उपरान्त कलैक्ट्रेट परिसर में डा.अम्बेडकर जयंती के अवसर पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में अम्बेडकर जी के जीवन मूल्यों से सम्बंधित विचार गोष्ठी, सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।कार्यक्रम को जिलाधिकारी सहित कलैक्ट्रेट के अन्य अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा सम्बोधित करते हुए डा.अम्बेडकर के जीवन मूल्य एवं उनके समाज में योगदान पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम में अपर उप जिलाधिकारी रमेश चन्द्र ने कहा कि आज सम्पूर्ण भारत एक महान व्यक्ति की जयंती मना रहा है। बाबा साहब का उद्देश्य समाज के निम्न स्तर के लोगों का विकास करना था। उन्होंने कहा कि प्रत्येक अधिकारी एवं कर्मचारी को बाबा साहब के विचारों को अपने जीवन में धारण करना चाहिए। कार्यक्रम में राजस्वकर्मी ज्योति गुप्ता ने कहा कि बाबा साहब डा.भीमराव अम्बेडकर बुद्धिमता एवं तार्किकता के गुणों से परिपूर्ण थे। अर्थशास्त्र के अनुसार महान अर्थशास्त्री अमत्र्य सेन ने बाबा साहब को अपना आदर्श माना है। कार्यक्रम में अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार मिश्र ने कहा कि आज बोधिसत्व भारत रत्न बाबा साहब डा.भीमराव अम्बेडकर जी की 128 वी जयंती मनाने के लिए हम सब एकत्र हुये हैं। बाबा साहब आजाद भारत के प्रथम कानून मंत्री रहे। उन्होंने कहा कि बाबा साहब एकमात्र ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने तीनों गोलमेज सम्मेलनों मेंं भाग लिया। हम सभी एक समतामूलक समाज की स्थापना करें, यही बाबा साहब को एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी। कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि बाबा साहब डा.भीमराव अम्बेडकर जी को संविधान निर्माता के रुप में जाना जाता है। संविधान में सम्पूर्ण भारत को एकसूत्र में बांधने का कार्य बाबा साहब द्वारा किया गया है।  कलैक्ट्रेट में आयोजित कार्यक्रम के दौरान अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार मिश्र, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.प्रताप सिंह, परियोजना निदेशक डीआरडीए बलिराम वर्मा, अपर उप जिलाधिकारी रमेश चन्द्र, उप जिलाधिकारी पाली नरेन्द्र सिंह, वरिष्ठ कोषाधिकारी विष्णुकान्त द्विवेदी, जिला विद्यालय निरीक्षक रामशंकर, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मनोज कुमार, जिला सूचना अधिकारी पीयूष चन्द्र राय सहित कलैक्ट्रेट परिसर के अन्य कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन बृजमोहन संज्ञा द्वारा किया गया।