बुन्देलखण्ड ललितपुर

अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका, प्रदर्शन

ललितपुर। इलाहाबाद विश्वविद्यालय में आयोजित समारोह में भाग लेने लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट से प्रयागराज जा रहे सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को एयरपोर्ट व पुलिस अधिकारियों ने रोक दिया। बस फिर क्या था पूरे सूबे में सपा कार्यकर्ताओं में आक्रोश फैल गया। चारों ओर योगी सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी व प्रदर्शन किया गया। इसी क्रम में ललितपुर जिले में भी घण्टाघर पर सपाईयों ने जंगी प्रदर्शन करते हुये योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुये विरोध दर्ज कराया गया। सपा जिलाध्यक्ष ज्योति सिंह लोधी के नेतृत्व में सपा कार्यकर्ता भारी संख्या में स्टेशन रोड स्थित कार्यालय पर एकत्र हुये। यहां से सपाईयों ने दो पहिया वाहन रैली निकालते हुये शहर भर में भ्रमण किया। तदोपरान्त सपाईयों ने घण्टाघर मैदान पर बैठकर योगी सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। इस दौरान सपाईयों ने प्रदेश के महामहिम राज्यपाल को संबोधित एक ज्ञापन उप जिलाधिकारी सदर गजल भारद्वाज को सौंपते हुये उच्च स्तरीय जांच, दोषियों के खिलाफ कार्यवाही व प्रदेश सरकार को निरंकुश बताते हुये बर्खाश्त किये जाने की मांग उठायी है। प्रदर्शन कर राज्यपाल को भेजे गये ज्ञापन में सपाईयों ने बताया कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष/पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लखनऊ से इलाहाबाद विश्वविद्यालय के लिए जा रहे थे। उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक दिया गया। आरोप है कि बिना किसी लिखित आदेश के बिना किसी कारण पुलिस अधिकारियों ने उन्हें रोका, जो कि लोकतंत्र की हत्या है। समाजवादी पार्टी ने इस प्रकरण की कड़े शब्दों में निन्दा करते हुये प्रदेश सरकार पर अराजकता फैलाने का आरोप लगाया है। वहीं कहा कि यदि पूर्व मुख्यमंत्री के साथ इस सरकार में ऐसा व्यवहार किया जा रहा है तो आम जनता के साथ कानून व्यवस्था का क्या हाल है यह सोचनीय विषय है। उन्होंने प्रदेश सरकार को बर्खाश्त कर, प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कराये जाने एवं दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही किये जाने की मांग उठायी है।